संन्यास के ऐलान के बाद भावुक हुए यूसुफ पठान, बोले- तेंदुलकर को कंधे पर उठाना सबसे यादगार पल

यूसुफ पठान (Yusuf Pathan) ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है. इसकी जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर करके दी है. यूसुफ पठान ने अपने करियर में 57 वनडे और 22 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले. इसके अलावा यूसुफ ने 174 आईपीएल मैच खेले. हैं. साल 2007 के टी-20 वर्ल्डकप के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ यूसुफ पठान ने अपने इंटरनेशनल करियर का आगाज किया और साथ ही डेब्यू मैच में विश्व चैंपियन भी बना. यह क्रिकेट इतिहास का पहला मौका रहा जब किसी खिलाड़ी ने वर्ल्डकप फाइनल में डेब्यू भी किया और चैंपियन का रूतबा भी हासिल किया था.

यूसुफ पठान ने रिटायरमेंट करते हुए लिखा, ‘मैं अपने परिवार, दोस्तों, प्रशंसकों, टीमों, कोचों और पूरे देश का तहे दिल से समर्थन का और प्यार के लिए दिल से शुक्रिया अदा करता हूं.’ युसूफ ने कहा, ‘‘मुझे अब भी वह दिन याद है जब मैंने पहली बार भारतीय टीम की जर्सी पहनी थी। मैंने उस दिन सिर्फ जर्सी ही नहीं पहनी थी, बल्कि अपने परिवार, कोच, दोस्तों, पूरे देश और अपनी खुद की उम्मीदें अपने कंधों पर ली थीं.

उन्होंने कहा, ‘‘भारत के लिये दो विश्व कप जीतना और सचिन तेंदुलकर को अपने कंधों पर उठाना मेरे करियर के सर्वश्रेष्ठ पलों में से कुछ हैं. मैंने एम एस धोनी की कप्तानी में अपना अंतरराष्ट्रीय, शेन वार्न के नेतृत्व में आईपीएल और जैकब मार्टिन की कप्तानी में रणजी पदार्पण किया। मुझ पर भरोसा करने के लिये उनका शुक्रिया अदा करना चाहूंगा.

यूसुफ ने साल 2010 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ आईपीएल में 37 गेंद पर शतक जमाया था. आईपीएल के इतिहास में यूसुफ सबसे तेज शतक जमाने वाले दूसरे बल्लेबाज हैं. क्रिस गेल के नाम आईपीएल में सबसे तेज शतक जमाने का रिकॉर्ड दर्ज है. क्रिस गेल ने 30 गेंद पर शतक जमाया है.

बता दें कि यूसुफ आईपीएल में सबसे तेज शतक जमाने वाले भारतीय बल्लेबाज हैं. इस मामले में दूसरे नंबर पर मंयक अग्रवाल हैं जिन्होंने 2020 में राजस्थान के खिलाफ 45 गेंद पर शतक जमाया था.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *