कौन हैं वो ‘बॉलीवुड गैंग्स’ जिन पर फूटा रवीना, कंगना और शेखर कपूर का गुस्‍सा

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्‍महत्‍या ने बॉलीवुड में जीवन के लिए संघर्ष को फिर से चर्चा में ला दिया है. इस घटना को लेकर बॉलीवुड दो भागों में बंट गया है. कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और शेखर कपूर (Shekhar Kapoor) जैसे कलाकार साफ तौर पर कह रहे हैं कि यह सुसाइड नहीं बल्कि प्‍लांड मर्डर है. इन सितारों ने इंडस्‍ट्री के क्रूर और अक्षम्य व्यवहार विशेषकर फिल्मी दुनिया में बाहर से आने वाले लोगों के प्रति बॉलीवुड के खोखलेपन को लेकर निशाना साधा.

कंगना रनौत ने क्‍या कहा ?

यह पहली बार नहीं है जब कंगना रनौत ने ‘बॉलीवुड गैंग’ पर निशाना साधा है. कंगना ने इस गैंग को जिम्‍मेदार ठहराते हुए कहा,’ सुशांत ने बड़ी-बड़ी फिल्में की हैं. ‘छिछोरे’ अगर किसी स्टार किड ने की होती तो उन्हें बहुत बड़ा स्टार माना जाता. जब करण के एक करीबी की वेडिंग थी तो उसमें सुशांत को क्यों नहीं बुलाया गया? सुशांत को इज्जत क्यों नहीं दी गई? अपनी पार्टीज में कभी नहीं बुलाया. उन्हें एकदम से डिस्क्रेडिट करके रखा.’

सुशांत को कर दिया गया था बैन

बॉलीवुड फिल्मों का बिजनेस बताने वाले ट्विटर हैंडल KRK BOX OFFICE (KRKBoxOffice) के एक ट्वीट के अनुसार, सुशांत सिंह राजपूत को यशराज, धर्मा, बालाजी, टी-सीरिज, साजिद नाडियावाला बैनर ने बैन कर दिया था. तो क्‍या वह सिर्फ टीवी और वेब सीरीज में काम करते?हालांकि इस खबर में कितनी सच्चाई है इसका दावा हम नहीं कर सकते.

रवीना टंडन ने साधा जमकर निशाना

रवीना टंडन ने अपने पोस्‍ट में लिखा,’ फिल्म इंडस्ट्री में मीन गर्ल गैंग मौजूद हैं. ये लोग दूसरों को अपने फायदे के लिए फिल्म से निकलवा देते है. झूठे किस्से फैला दिये जाते है, जिसके कारण कभी-कभी करियर भी बर्बाद हो जाता है. इस दौरान कुछ अपनी लड़ाई लड़ने के लिए कड़ी संघर्ष करते है तो कुछ हार जाते है. जब आप सच बोलते हैं, तो आप को एक झूठे, पागल और मानसिक रूप से बीमार होने का दर्जा मिल जाता है. जिसने इस फिल्म इंडस्ट्री में जन्म लिया और वो जो इस दुनिया में बाहर से आया है, जिन्हें आउटसाइडर कहा जाता है. ऐसा मैंने कुछ एंकर से सुना, जो इनसाइडर और आउटसाइडर कहते रहते है. पर इन सब से आपको लड़ना है. ये मुझे जितना दबाने की कोशिश करते है, उतने ही ताकत से मैं लड़ाई लड़ती हूं. गंदी राजनीति हर जगह होती है.’

शेखर कपूर बरसे

शेखर कपूर ने लिखा,’ मैं जानता था कि सुशांत किस दर्द में थे. मैं उनलोगों के बारे में जानता हूं जिन्होंने आपको निराश किया, आपको रोने पर मजबूर किया. काश कि मैं पिछले छह माह आपके साथ रह पाता. काश की तुम मेरे साथ होते. तुम्हारे साथ जो हुआ वह उनके कर्म हैं, तुम्हारे नहीं. दुनिया में कोई भगवान नहीं है, यह जिंदगी का सबक है, ऐसा वे कहते थे, मैंने भी कहा था, हां यह सच है कि जीवन में सिर्फ आशा है, उम्मीद है, प्रेम है. कल भी सुशांत की आत्महत्या की खबर के बाद शेखर कपूर ने यह ट्‌वीट किया था कि सुशांत तुम्हें यूं नहीं जाना चाहिए था.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *