चरम पर पहुंचा अमेरिका-चीन टकराव, 72 घंटे में ह्यूस्टन में वाणिज्य दूतावास बंद करने को कहा

अमेरिका और चीन के बीच शुरू हुआ टकराव चरम पर पहुंच गया है। अमेरिका ने चीन के खिलाफ कठोर कदम उठाते हुए बीजिंग को ह्यूस्टन स्थित महावाणिज्य दूतावास को 72 घंटे के अंदर बंद करने को कहा है।इस अमेरिकी आदेश के बाद चीनी दूतावास के कर्मचारी गोपनीय दस्‍तावेजों को जलाते हुए देखे गए हैं। उधर, अमेर‍िका के इस कदम के बाद चीन भड़क उठा है और उसने आवश्‍यक जवाबी कार्रवाई की धमकी दी है।

बताया जा रहा है कि अमेरिका ने चीन के साथ जारी गंभीर तनाव को देखते हुए ह्यूस्‍टन के महावाणिज्‍य दूतावास को बंद करने का आदेश दिया है। इसके लिए अमेरिका ने चीन को 72 घंटे का समय दिया है। इतने कम समय में महावाणिज्‍य दूतावास को खाली करने के आदेश से चीन के विदेश मंत्रालय में हड़कंप मच गया है। चीन के विदेश मंत्रालय ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है।

चीन के विदेश मंत्रालय ने अमेरिका के इस कदम की कड़ी निंदा की है और कहा कि अमेरिका ने इस गलत आदेश को वापस नहीं लिया तो वह ‘एक न्‍यायोचित और आवश्‍यक जवाबी कार्रवाई’ करेगा। उधर, अमेरिका के आदेश के बाद चीनी दूतावास के अंदर अफरातफरी का माहौल देखा गया। यही नहीं चीनी कर्मी बड़ी संख्‍या में गोपनीय दस्‍तावेजों को जलाते देखे गए हैं।

हालत यहां तक हो गई कि आग को देखकर ह्यूस्‍टन के फायर डिपार्टमेंट की गाड़‍ियां मौके पर पहुंच गईं लेकिन वे दूतावास के अंदर नहीं गईं। चीन के दूतावास से निकल रही आग की लपटों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। अमेरिका के इस कदम से अब चीन के साथ उसके संबंधों के और ज्‍यादा तनावपूर्ण होने की आशंका बढ़ गई है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *