रक्षा मंत्री राजनाथ ने LAC पर चीनी खतरे से किया आगाह, कहा- तैयार रहे वायुसेना

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह आज एयर फोर्स कमांडर्स की कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए हैं। यहां रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने लद्दाख में वायु सेना के रोल की खुलकर तारीफ की और कहा कि हमें सतर्क रहने की जरूरत है। इसी महीने फ्रांस से 5 राफेल लड़ाकू विमान भी आ रहे हैं जो हथियारों से पूरी तरह लैस हैं, उनकी तैनाती को लेकर भी कमांडर्स कॉन्फ्रेंस में चर्चा की उम्मीद है।
 
 राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर भारत और चीन के बीच युद्ध जैसी स्थिति बनती है तो वायुसेना को शॉर्ट नोटिस पर ही अपने हथियारों को तैनात कर लेना है। इस बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सभी सात कमांडर-इन-चीफ भी शामिल हुए।

रक्षा मंत्री राजनाथ ने बैठक को लेकर कहा कि आज वायुसेना कमांडर सम्मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया। कुछ सबसे चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में वायुसेना की भूमिका को राष्ट्र द्वारा सम्मानित किया जाता है। कोविड-19 महामारी के दौरान देश की प्रतिक्रिया काफी सराहनीय रही है।  

भारत सरकार ने कांफ्रेंस से संबंधित जानकारी देते हुए कहा कि वायुसेना कमांडर्स को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने पिछले कुछ महीनों के दौरान वायुसेना की अभियान क्षमताओं की जमकर तारीफ की।

सरकार ने बताया कि रक्षा मंत्री ने इस बात को रेखांकित किया कि भारतीय वायुसेना ने जिस कुशलता के साथ बालाकोट में हवाई हमलों को अंजाम दिया और पूर्वी लद्दाख में विकट परिस्थितियों के बीच जिस तरह इसने फॉरवर्ड लोकेशन पर हथियारों की तैनाती की, उससे दुश्मन को एक कड़ा संदेश गया।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *