कोरोनावायरस के बीच चीन ने 27 दिन में नाप डाला माउंट एवरेस्ट, ऊंचाई 4 मीटर कम निकली

चीन ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट को फिर से नाप लिया है। 27 दिन तक चले सर्वेक्षण का मकसद दुनिया को माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई की सही जानकारी देना था। चीनी वैज्ञानिकों के मुताबिक, माउंट एवरेस्ट की जो ऊंचाई हमें बताई गई है, यह उससे चार मीटर कम है।

इसके लिए चीन का 8 सदस्यीय टीम तिब्बत के रास्ते बुधवार को एवरेस्ट की चोटी पर पहुंची। चीन के अनुसार, माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई 8844.43 मीटर है। वहीं, नेपाल ने जो ऊंचाई नापी थी, वह 8848.13 मीटर थी। वैज्ञानिकों ने एक मई से माउंट एवरेस्ट को नापने के लिए सर्वे शुरू किया था।

नेपाल ने एवरेस्ट की ऊंचाई सही नहीं नापी थी

चीन का मानना था कि नेपाल माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई सही से नहीं नापी है। चीन के सर्वेयर अब तक माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई नापने के लिए 6 चक्र पूरे कर चुके हैं। 1975 और 2005 में दो बार चोटी की ऊंचाई क्रमश: 8848.13 मीटर और 8844.43 मीटर बताई गई थी।

टीम पर्वत की चोटी पर 150 मिनट तक रही

माउंट एवरेस्ट पर पहुंची टीम पर्वत की चोटी पर 150 मिनट तक रही। टीम ने चीनी लोगों का पर्वत की चोटी पर सबसे ज्यादा समय तक रुकने का रिकॉर्ड तोड़ दिया। इस दौरान टीम के सदस्यों ने 20 वर्ग मीटर चौड़ी चोटी पर सर्वे का मार्क भी लगाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *