माली में सरकार के खिलाफ सेना का विद्रोह, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को बनाया बंधन, जबरन लिया इस्तीफा

पश्चिम अफ्रीकी देश माली (Maali) में विद्रोहियों ने तख्तापलट की कोशिश करते हुए राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री मंत्री बाउबो सिसे (Soumeylou Boubèye Maïga) को हिरासत में ले लिया है। और इसी के बाद उन्हें मजबूरन इस्तीफा देना पड़ा। इससे पहले माली में विद्रोही सैनिकों ने मंगलवार को राष्ट्रपति के निजी आवास को घेर लिया था और हवा में गोलियां चलाईं थीं।  

माली में मंगलवार को ही सैन्य विद्रोह के बाद तख्तापलट के आसार बढ़ गए थे। मंगलवार को विद्रोही सैनिकों ने राजधानी से कई वरिष्ठ नागरिकों और सैन्य अधिकारियों को बंधक बना लिया और अपने ठिकानों पर ले गए। इसके अलावा विद्रोही सैनिकों ने राष्ट्रपति भवन का घेराव किया और फिर राष्ट्रपति को भी बंदूक की नोक पर हिरासत में ले लिया।

उधर, सैन्य विद्रोह की खबर के बाद सैकड़ों सरकार विरोधी लोग सड़कों पर उतर आए थे और राजधानी के सेंट्रल स्क्वायर पर जश्न का माहौल बन गया। इन लोगों ने कहा कि अब सही वक्त है सरकार को इस्तीफा दे देना चाहिए। रक्षा सूत्रों ने भी सैन्य विद्रोह की पुष्टि की है। हालांकि इस बात की जानकारी नहीं मिली कि कौन और कितने अधिकारियों को बंधक बनाया गया।

अभी यह भी स्पष्ट नहीं हुआ है कि इसमें कितने सैनिक शामिल थे। वहीं सेना के प्रवक्ता ने राजधानी से 15 किलोमीटर की दूरी पर कट्टी स्थित सेना के अड्डे पर गोलीबारी की पुष्टि की लेकिन इससे अधिक कोई जानकारी नहीं दी। इससे पहले 2012 में कट्टी बेस पर विद्रोह के कारण एक तख्तापलट हुआ था जिसमें तत्कालीन राष्ट्रपति अमादौ तौमानी तौरे को हटना पड़ा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *