तनाव के बीच चीन के सेंट्रल बैंक ने भारतीय निजी बैंक ICICI Bank में खरीदा हिस्सा

लद्दाख विवाद के बाद भारत (India) में चीन (China) के सामानों का बहिष्कार हो रहा है, लोग चीन के सामान खरीदना बंद कर रहे हैं. लेकिन चीन है कि उसे भारत की ही चीजें पसंद आ रही हैं. खबर है कि चीन ने एचडीएफसी में हिस्सेदारी के बाद अब चीन के केंद्रीय बैंक पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना ने भारत के निजी क्षेत्र के बैंक आईसीआईसीआई बैंक में निवेश किया है. सरकार ने अप्रैल में पड़ोसी देशों द्वारा एफडीआई निवेश के लिए नए मानदंडों को अधिसूचित किया था, जिन्हें फिलहाल मंजूरी की आवश्यकता होगी.

हालांकि, चीन के केंद्रीय बैंक ने काफी कम राशि निवेश की है. पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना ने आईसीआईसीआई बैंक में मात्र 15 करोड़ रुपये निवेश किए हैं. यह निवेश क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (क्यूआईपी) के माध्यम से हुआ है.

पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना म्यूचुअल फंडों, बीमा कंपनियों सहित उन 357 संस्थागत निवेशकों में शामिल है, जिन्होंने हाल में आईसीआईसीआई बैंक के क्यूआईपी ऑफर में 15,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है. यह निवेश ऐसे समय में सामने आया है, जब भारत और चीन के बीच सीमा विवाद चल रहा है.

इससे पहले पिछले साल मार्च में चीन के केंद्रीय बैंक ने एचडीएफसी में अपने निवेश को बढ़ाकर एक फीसद से अधिक कर दिया था. उस समय इस पर काफी विवाद हुआ था. एचडीएफसी के वाइस चेयरमैन और सीईओ केकी मिस्त्री ने आईएएनएस को बताया था कि पीबीओसी मौजूदा शेयरधारक था और मार्च 2019 तक उसका कंपनी में 0.8 फीसदी का मालिकाना हक था. इसके बाद, ऐसी खबरें आई हैं कि पीबीओसी ने एचडीएफसी में अपनी हिस्सेदारी में कटौती की है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *