आफरीदी बोले- PAK टीम में होंगे बलूचिस्‍तान के लड़के, जवाब मिला- भिखारियों के साथ नहीं खेलना

पाकिस्‍तान के पूर्व कप्‍तान शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi ) एक बार फिर सोशल मीडिया पर ट्रोल गए हैं. दरअसल वो इस समय पाकिस्‍तान के कई प्रांतों का दौरा कर रहे हैं. जहां वह अधिकतर क्रिकेट का मुद्दा उठा रहे हैं. पिछले दिनों उन्‍होंने पाकिस्‍तान अधिकृत कश्‍मीर में जाकर भारत और पीएम नरेन्‍द्र मोदी (PM Narendra Modi) के खिलाफ जमकर जहर उगला था और इसी के साथ अफरीदी ने कहा कि था कि वो पीओके के क्रिकेटर्स को कराची ले जाना चाहते हैं और जहां पर वह उन्‍हें तैयार करेंगे.

यही बात अब उन्‍होंने बलूचिस्‍तान में कही. जिसके बाद वह जमकर ट्रोल हुए. अफरीदी ने कहा कि बलूचिस्‍तान में काफी क्रिकेट और फुटबॉल टैलेंट है और वह बलूचिस्‍तान में क्रिकेट के लिए हमेशा तैयार रहेंगे. उन्‍होंने यहां पर क्रिकेट एकेडमी लगाने की भी बात की.

अफरीदी ने इसके आगे कहा कि यहां के जो बच्‍चे उन्‍हें पसंद आएंगे, उसे वो अपने साथ कराची ले जाएंगे. वो उनके साथ रहेंगे भी और क्रिकेट के साथ साथ उन्‍हें पढ़ाएंगे भी. उन्‍होंने कहा कि बलूचिस्‍तान के लोगों में काफी टैलेंट है. मगर फिर भी यहां के लोगों को पाकिस्‍तान टीम में जगह नहीं मिल पाती. दरअसल यहां पर सुविधाओं की कमी है. अफरीदी ने यहीं बात पीओके में भी कही थी.

इसी बात पर वह सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गए.एक यूजर ने कहा कि बलूचिस्‍तान तुम्‍हारे और तुम्‍हारे पीएम की तरह किसी भिखारी के लिए और किसी भिखारी के नेतृत्‍व में नहीं खेलना चाहता. एक ने कहा कि पाकिस्‍तान टीम में लाहौर के अलावा कहीं और के खिलाड़ी दिखाई ही कहां देते हैं.

पीओके के क्रिकेटर्स को कराची ले जाना चाहते हैं अफरीदी

पिछले महीने पीओके में अफरीदी ने कहा कि वह पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड से निवेदन करते हैं कि अगली बार जब वह पाकिस्‍तान सुपर लीग का आयोजन करें तो उसमें एक नई टीम कश्‍मीर को शामिल करना चाहिए और वह अपने आखिरी साल में इस टीम की अगुआई करना चाहेंगे.

उन्‍होंने कहा कि अगर यहां स्‍टेडियम है, तब यहां क्रिकेट एकेडमी होनी चाहिए. इसके साथ-साथ उन्होंने कहा कि वो पाकिस्तान के युवा खिलाड़ियों को कराची ले जाना चाहते हैं. उस समय अफरीदी ने कहा था कि वे कश्मीर आकर वहां के लोकल क्लब के मैच देखना चाहूंगा. वहां के बेस्ट खिलाड़ियों को अपने साथ कराची ले जाना चाहेंगे. वो उनके साथ रह सकते हैं और अभ्यास कर सकते हैं. उनकी पढ़ाई का खर्चा भी उठाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *